पीपल के पत्ते से करें ये उपाय, सफलता चूमेगी आपके कदम

Spread the love

हिन्दू धर्म मे पीपल के पेड़ को बेहद पवित्र माना गया है. पीपल के पेड़ को देव वृक्ष भी कहा जाता है. मान्यता है कि पीपल के पेड़ की जड़ में ब्रह्मा, तने में विष्णु और ऊपर के भाग में भगवान शिव का वास होता है. इस कारण हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ की पूजा की जाती है. वहीं पीपल के पत्ते का भी कम महत्व नहीं है. ज्योतिष की मानें तो पीपल के पत्ते से जुड़े कुछ खास उपायों को करने से व्यक्ति के जीवन से दुर्भाग्य दूर हो जाते हैं. आज हम आपको पीपल के पत्ते से जुड़े कुछ ऐसे उपायों के बारे में बताएंगे, जिन्हें करने से न सिर्फ दोषों से मुक्ति मिलती है बल्कि जीवन में खुशियां भी आती हैं.

हर काम में मिलेगी सफलता

अगर आपको किसी कार्य में सफलता नहीं मिल पा रही है तो सभी कार्यों में सफलता पाने के लिए पीपल के 11 पत्ते लें और उसे साफ पानी से धो लें. पत्ता कहीं से टूटा-फूटा नहीं होना चाहिए. अब इन पत्तों पर कुमकुम, अष्टगंध या चंदन मिलाकर श्री राम का नाम लिखें. नाम लिखते समय हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करें. फिर इन पत्तों की एक माला बना लें और हनुमान मंदिर में हनुमान जी को अर्पित कर दें.

मंगलवार या शनिवार को करें ये उपाय 

मंगलवार या शनिवार के दिन पीपल के पेड़ से एक पत्ता तोड़ कर गंगाजल से धो लें. इसके बाद हल्दी और दही से उसके ऊपर अनामिका उंगली की मदद से “हीं” लिखें और इसे दीप दिखा कर पर्स में रख लें. इस विधि को हर शनिवार दोहराने से धन से जुड़ी समस्या दूर होती है. दूसरी बार ये उपाय करने से पहले पुराने पत्तों को किसी पवित्र स्थान पर छोड़ दें.

READ  शनिवार के दिन करें ये अचूक उपाय, जीवन से सभी बाधाएं होंगी दूर

शिवलिंग की पूजा करें

पीपल के पेड़ के नीचे शिवलिंग स्थापित करना विशेष फलदाई होता है. मान्यता है है कि पीपल के पेड़ के नीचे बने शिवलिंग की जो भी व्यक्ति नियमित रूप से पूजा करता है उसके जीवन की सभी समस्याएं समाप्त होती हैं.

पितृ दोष से बचने के लिए पीपल को जल दें

यदि पितृ दोष से निजात पाना चाहते हैं तो प्रतिदिन पीपल के पेड़ में जल अर्पित करें. मान्यता है कि इससे शनि दोषों से भी मुक्ति मिल जाती है. शनिवार के दिन पीपल के पेड़ को जल अर्पित करना चाहिए और सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए. ऐसा करने से शनि की दशा समाप्त होती है और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: