आज भी सही राह दिखाते हैं स्वामी विवेकानंद के विचार

Spread the love

स्वामी विवेकानंद ने युवाओं के लिए कई काम किये. उनके विचार आज भी लोगों के अँधेरे जीवन में रोशनी की किरण की तरह काम करते हैं. यही वजह है कि उनके जन्मदिवस 12 जनवरी को युवा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है. इस अवसर पर स्वामी विवेकानंद के कुछ अनमोल वचन-

‘जितना कठिन संघर्ष होगा
जीत उतनी ही शानदार होगी’

‘एक अच्छे चरित्र का निर्माण
हजारों ठोकरें खाने के बाद ही होता है’

‘संभव की सीमा को जानने का सबसे उत्तम तरीका है
असंभव की सीमा से आगे निकल जाना’

‘चिंतन करो, चिंता नहीं ,
नए विचारों को जन्म दो’

‘सभी को मरना है, सज्जन भी मरेंगे और दुर्जन भी मरेंगे,
गरीब भी मरेंगे और अमीर भी मरेंगे इसलिए निष्कपट होकर जीवन जियो’

‘जैसा तुम सोचते हो, वैसे ही बन जाओगे।
खुद को निर्बल मानोगे तो निर्बल और सबल मानोगे तो सबल ही बन जाओगे’

‘जब तक आप स्वयं पर विश्वास नहीं करते,
आप भगवान पर विश्वास नहीं कर सकते’

‘एक शब्द में कहें तो तुम ही परमात्मा हो’

‘दान सबसे बड़ा धर्म है’

‘नर सेवा – नारायण सेवा’

‘ज्ञान का दान ही सबसे उत्तम दान है’

‘उठो जागो और जब तक लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाये तब तक मत रुको’

‘धन अगर अच्छाई के लिए उपयोग ना किया जाये
तो ये बुराई की जड़ बन जाता है’

‘एक समय में एक ही काम करो
और पूरी निष्ठा और लगन से करो
बाकि सब कुछ भुला दो’

‘डर कमजोरी की सबसे बड़ी निशानी है’

‘महान कार्य के लिए महान त्याग करने पड़ते हैं’

‘खुद को कमजोर मान लेना बहुत बड़ा पाप है’

‘आत्मा के लिए कुछ भी असंभव नहीं’

‘महात्मा वो है, जो गरीबों और असहाय के लिए रोता है
अन्यथा वो दुरात्मा है’

‘बह्माण्ड की सारी शक्तियाँ हमारे अंदर निहित हैं
और ये हम ही हैं जो अपनी आखों पर पट्टी बांधकर अंधकार होने का रोना रोते हैं’

‘परोपकार धर्म का दूसरा नाम है
परपीड़ा सबसे बड़ा पाप’

‘वही लोग अच्छा जीवन जीते हैं जो दूसरों के लिए जीते हैं’

‘राम राम करने से कोई धार्मिक नहीं हो जाता।
जो प्रभु की इच्छानुसार काम करता है वही धार्मिक है’

‘ज्ञान का प्रकाश सभी अंधेरों को खत्म कर देता है’

‘जिस पल आपको यह पता चल जायेगा कि ईश्वर आपके भीतर है।
उस पल से आपको प्रत्येक व्यक्ति में ईश्वर की छवि नजर आने लगेगी’

‘तुम्हें कोई पढ़ा नहीं सकता, कोई आध्यात्मिक नहीं बना सकता।
तुमको सब कुछ खुद अंदर से सीखना है’

‘जीवन में एक समय ऐसा आता है जब व्यक्ति ये अनुभव करता है कि
दूसरे मनुष्यों की सेवा करना, लाखों जप तप के बराबर है’

‘दिन में कम से कम एकबार खुद से जरूर बात करें
अन्यथा आप एक उत्कृष्ट व्यक्ति के साथ एक बैठक गँवा देंगे’

‘कोई और तुम्हारी मदद नहीं कर सकता, अपनी मदद स्वयं करो
आप ही खुद के सबसे अच्छे मित्र हैं और सबसे बड़े दुश्मन भी’

‘अपने जीवन में एक लक्ष्य बनाओ
और तब तक प्रयास करो जब तक वो लक्ष्य हासिल ना हो जाये
यही सफलता का मूल मन्त्र है’

‘तुम्हें भीतर से जागना होगा
कोई तुम्हें सच्चा ज्ञान नहीं दे सकता
तुम्हारी आत्मा से बड़ा कोई शिक्षक नहीं है’

‘जिस समय पर आप जिस काम की प्रतिज्ञा करते हैं
उसे उसी समय पर पूरा कीजिये अन्यथा लोगों का विश्वास आपसे उठ जायेगा’

‘वे अकेले रहते हैं, जो दूसरों के लिए जीते हैं
बाकि जिन्दा से ज्यादा मरे हुए हैं’

‘पवित्रता, धैर्य और दृंढता
ये तीनों सफलता के लिए आवश्यक हैं
और प्यार सबसे ऊपर है’

‘वे लोग धन्य हैं
जिनके शरीर दूसरों की सेवा करने में नष्ट हो जाते हैं’

‘शक्ति जीवन है,
निर्बलता मृत्यु है,
विस्तार जीवन है,
संकुचन मृत्यु है,
प्रेम जीवन है
और द्वेष मृत्यु है’

‘जो कुछ भी तुमको कमजोर बनाता है –
शारीरिक, बौद्धिक या मानसिक उसे जहर की तरह त्याग दो’

‘तुम मुझे पसंद करो या मुझसे नफरत, दोनो ही मेरे पक्ष में हैं
अगर तुम मुझको पसंद करते हो तो, मैं आपके दिल में हूँ,
और अगर तुम मुझ से नफरत करते हो , तो मैं आपके मन में हूं’

‘जब तक जीवन है, सीखते रहो क्यूंकि अनुभव ही सबसे श्रेष्ठ शिक्षक है’

‘अपनी अंतरात्मा को छोड़कर किसी के आगे मस्तक ना झुकाओ
ईश्वर तुम्हारे अंदर ही विद्धमान है, इसका अनुभव करो’

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
READ  फिल्म दीवार के डायलॉग की तर्ज पर यूपी पुलिस ने बनाया मैसेज
Do NOT follow this link or you will be banned from the site! © Word To Word 2019 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: