ऐसे किया जा रहा है भारत में कोरोना टेस्ट, जानिए पूरा प्रोसेस

Spread the love

दुनिया के अन्य देशों के साथ भारत में भी कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि संक्रमित लोगों का कैसे पता लगाया जा सकता है? क्योंकि कोरोना के लक्षण ही किसी को 7 दिन में पता लगते हैं तो किसी को 14 दिन में पता चलते हैं और कई बार तो ऐसा भी होता है कि जो लोग कोरोना संक्रमित होते हैं, उनकी शुरुआत में रिपोर्ट भी निगेटिव आती है. आइए जानते हैं कि भारत में कोरोना टेस्ट कैसे किया जाता है –

क्या है आईसीएमआर की गाइडलाइन

भारत में कोरोना परीक्षण किस तरह से किया जाना है, इसकी गाइडलाइन आईसीएमआर ने तय की है. जिसमें विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से दी गई सलाह भी शामिल है. आईसीएमआर यानी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के अनुसार, जो संदिग्ध व्यक्ति है, उसके गले के अंदर से लार (स्वाब) एकत्र करके उसका टेस्ट के लिए रजिस्टर्ड प्रयोगशालाओं में पॉलीमरेज चेन रिएक्शन (पीसीआर) टेस्ट किया जाता है. इस प्रकार के टेस्ट का उपयोग अधिकतर इन्फ्लुएंजा ए, इन्फ्लुएंजा बी और एच1एन1 वायरस का पता लगाने में उपयोग किया जाता रहा है.

क्या है पीसीआर टेस्ट

यह एक ऐसी तकनीक है, जो डीएनए के एक पार्ट की कॉपी तैयार करता है. रिअल टाइम पॉलीमरेज चेन रिएक्शन या पीसीआर टेस्ट एक महत्वपूर्ण जांच होती है. पॉलीमर्स वे एंजाइम होते हैं, जो डीएनए की नकल बनाते हैं. वायरस के डीएनए से इस कोरोना संक्रमित के सैंपल को मैच किया जाता है. यदि यह मैच हो जाता है तो इसका मतलब वह व्यक्ति जिसका सैंपल लिया गया है, वह कोरोना पॉजिटिव है. यह टेस्ट अत्याधुनिक लैब में ही किया जा सकता है. इस टेस्ट में 6-7 घंटे का समय लग सकता है.
भारत में कोरोना परीक्षण के लिए इसी पीसीआर टेस्ट को अपनाया जा रहा है. पहले पहल यह टेस्ट केवल पुणे की नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में ही किया जा रहा था. देश के सभी स्वाब सैंपल पुणे भेजना संभव नहीं था, इसलिए इस टेस्ट को अब देश की अन्य चुनिंदा प्रयोगशालाओं में भी किया जा रहा है. इसमें कुछ निजी पैथालॉजी लैब को भी शामिल किया गया है.

READ  मोबाइल एडिक्टेड हैं? आज ही पाइए इस लत से छुटकारा

भारत में फिलहाल कोरोना टेस्ट की क्षमता प्रतिदिन 10,000 सैंपल की है. वर्तमान में यह टेस्ट 600-700 के आसपास किया जा रहा है.

शादी से पहले करें यह काम, नहीं होगा तलाक, देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love

Leave a Reply

Do NOT follow this link or you will be banned from the site! © Word To Word 2019 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: