धनतेरस में सोना खरीदना है, तो ऐसे जानें असली है या नकली

Spread the love

सोना कीमती धातु है. इस कारण इसकी खरीदारी में धोखा खाने की भी आशंका भी होती है. इसलिए सोना खरीदने से पहले यह जानना जरूरी है कि यह असली है या नकली. इसके लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है. सोने का मूल्य उसकी शुद्धता से निर्धारित होता है, जिसे कैरट में मापा जाता है. सोने का शुद्ध रूप 24 कैरट (99.99%) होता है. हालांकि, 24 कैरट सोना नरम होता है और उसका आकार बिगड़ सकता है. मजबूती और डिजाइनिंग के लिए उसमें अन्य धातुओं को मिलाया जाता है. कैरट जितना अधिक होगा, सोने का आभूषण उतना ही महंगा होगा.

24 व 22 कैरेट सोना में अंतर

यह शुद्ध सोना है और संकेत देता है कि सभी 24 भाग शुद्ध हैं और इसमें अन्य धातुएं नहीं मिली हैं. इसका रंग स्पष्ट रूप से उज्ज्वल पीला होता है और यह अन्य किस्मों की तुलना में अधिक महंगा होता है. ज्यादातर, लोग इतने कैरट के सोने को सिक्कों या बार के रूप में खरीदना पसंद करते हैं. इसका मतलब है कि आभूषण में 22 भाग सोना है और शेष 2 भाग में अन्य धातुएं हैं. इस प्रकार का सोना आभूषण बनाने में प्रयोग किया जाता है, क्योंकि यह 24 कैरट सोने से अधिक कठोर होता है. हालांकि, नगों से जड़े आभूषणों के लिए 22 कैरट सोने को प्राथमिकता नहीं दी जाती है.

सोने में हॉलमार्क का होता है प्रयोग

हॉलमार्क्ड आभूषण वे हैं, जिनमें सोने की मात्रा का मूल्यांकन किया गया हो और शुद्धता के अंतरराष्ट्रीय मानकों का पालन किया गया हो. यह मार्क भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) द्वारा दिया जाता है. बीआईएस हॉलमार्क के विभिन्न भाग इस प्रकार हैं. बीआईएस स्टेंडर्ड मार्क का लोगो. फिनेस मार्क जो सोने के कैरट को दर्शाता है. यह 1000 भागों में सोने की मात्रा को प्रदर्शित करता है. उदाहरण के लिए, 750 का अर्थ है 18 कैरेट सोना.

READ  रक्षाबंधन: इस मुहूर्त में राखी बाँधने से मिलेगा विशेष फल
इसके अलावा कुछ आसान टेस्ट भी हैं, जिन्हें आप अपना सकते हैं

मैग्नेट टेस्ट : एक चुंबक लें और इससे सोने की गहनों पर लगाएं. अगर यह चिपकता है तो आपका सोना असली नहीं है.
सिरामिक थाली : एक सफेद सिरामिक थाली लें. सोने को उस प्लेट पर घिसें. अगर इस थाली पर काले निशान पड़ें, तो आपका सोना नकली है और अगर हल्के सुनहरे रंग के पड़े तो आपका सोना असली है.

पानी से जांच : एक गहरे बर्तन में 2 गिलास पानी डालें और सोने के गहने को इस पानी में डाल दें. अगर आपका सोना तैरता है तो वो असली नही है. डूब कर सतह पर बैठ जाए तो असली है.

दांतों का टेस्ट : इन सबके अलावा एक और तरीका यह है कि सोने को अपने दांतों के बीच कुछ देर दबा कर रखें. अगर आपका सोना असली होगा तो इस पर आपके दांतों के निशान दिखाई देंगे. क्योंकि सोना एक बहुत ही नाजुक धातु है.

जानिए धनतेरस के दिन गाय को भोजन कराना क्यों जरूरी है, देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
Do NOT follow this link or you will be banned from the site! © Word To Word 2019 | Powered by Janta Web Solutions ®