कौन हैं बिहार के राजीव कुमार जिन्हें माइक्रोसॉफ्ट इण्डिया ने बनाया है अपना एमडी

Spread the love

बिहार के राजीव कुमार को अमेरिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट इंडिया ने अपना नया एमडी बनाया है. भागलपुर के रहने वाले राजीव कुमार पिछले 27 सालों से माइक्रोसॉफ्ट के साथ जुड़े हुए हैं. 10 सितंबर को माइक्रोसॉफ्ट इंडिया ने राजीव कुमार को अपना नया एमडी बनाया.

माइक्रोसॉफ्ट में क्या रही है राजीव की भूमिका

Image Credit: microsoft.com

राजीव ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ अपने 27 साल की नौकरी में स्मार्टफोन पर एमएस वर्ड, पावर प्वॉइंट, एक्सल के साथ पूरा ऑफिस यूजर को उपलब्ध कराया. इसी के साथ ही राजीव ने भारत में क्लाउड को फोकस कर नया डेटा सेंटर बनाने में भी बड़ी भूमिका निभाई.

हाई सैलरी को ठुकरा कर ज्वाइन किया था माइक्रोसॉफ्ट

मास्टर डिग्री पूरी कर कैम्पस प्लेसमेंट में उन्हें दो बड़ी कंपनियों से नौकरी का ऑफर मिला. प्लेसमेंट के समय एक तेल कंपनी ने 59000 डॉलर दे रही थी. वहीँ माइक्रोसॉफ्ट ने मात्र 28000 डॉलर का ही ऑफर दिया था. उस समय माइक्रोसॉफ्ट नई कंपनी थी और खुद को साबित करने का काफी अच्छा मौका था. सो उन्होंने  माइक्रोसॉफ्ट के साथ जाना बेहतर समझा. जिसके बाद अमेरिका के रेडमंड में उन्हें सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनाया गया उसेक बाद डिप्टी मैनेजर, जीएम, कॉरपोरेट वाइस प्रेसिडेंट तक बने. वे इस पद पर रहने के साथ एमडी (आरएंडडी) भी बनाए गए.

रेलवे स्टेशन पर भी बिताई कई रातें

राजीव का जन्म जबरा गांव में 20 दिसंबर 1968 को हुआ. उनके पिता झारखंड के साहेबगंज स्थित सेंट जेवियर्स स्कूल में अध्यापक थे. राजीव पढ़ाई में शुरू से ही अच्छे थे. इसी के चलते ही उनके पिता ने उनका एडमिशन अपने ही स्कूल में कराया था. जब उन्हें कॉलेज के हॉस्टल में जगह नहीं मिली तो उन्होंने रेलवे स्टेशन पर भी कई राते बिताई थीं.

जानिए धनतेरस के दिन गाय को भोजन कराना क्यों जरूरी है, देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।
READ  हैरतंगेज कारनामे कर सकती है यह मकडी

Spread the love
Do NOT follow this link or you will be banned from the site! © Word To Word 2019 | Powered by Janta Web Solutions ®