ब्लैक होल की पहली वास्तविक तस्वीर जारी हुई, पृथ्वी से 30 लाख गुना बड़ा

Spread the love

अब तक ब्लैकहोल की कम्प्यूटरीकृत तस्वीरें आपने खूब देखी होंगी. जैसा इसके स्वरुप का वर्णन किया जाता रहा है इसके आधार पर खुद आपके मन में भी इसकी एक काल्पनिक तस्वीर बन गयी होगी कि यह कैसा दीखता होगा. लेकिन अब इसकी कोरी कल्पना करने की जरूरत नहीं रह गयी है क्योंकि वैज्ञानिकों को ब्लैक होल की तस्वीर लेने में सफलता मिल गयी है.

इवेंट हॉरीजोन टेलीस्कोप ने ली तस्वीर

असल में ब्लैक होल का चुम्बकीय क्षेत्र इतना तीव्र होता है कि इससे होकर प्रकाश भी वापस नहीं लौट पाता है. ऐसे में इसे देख पाना या इसकी तस्वीरें ले पाना टेढ़ी खीर है. लेकिन यह संभव हुआ है दुनिया के 8 विशाल टेलीस्कोप्स की मदद से. इस ब्लैक होल की तस्वीर को इवेंट हॉरीजोन टेलीस्कोप ने लिया है, जो आठ रेडियो टेलीस्कोप का एक नेटवर्क है. ये टेलीस्कोप अन्टार्कटिका से लेकर स्पेन और चिली तक फैले हुए हैं. पिछले कई सालों से लगभग 200 वैज्ञानिक इस काम में लगे हुए थे. अब जाकर उन्हें इस ब्लैक होल की तस्वीरें लेने में सफलता मिली है. इस ब्लैक होल की तस्वीरों में धूल और गैसों के गुबार को एक डिस्क के रूप में साफ़ तौर पर देखा जा सकता है. ब्लैक होल के प्रभाव क्षेत्र में आते ही इनकी गति प्रकाश से भी ज्यादा तेज हो जाती है जिससे इनका तापमान लाखों डिग्री सेल्सियस तक पहुँच जाता है.

सूर्य से भी विशाल

इस ब्लैक होल का आकार पृथ्वी से 30 लाख गुना ज्यादा बड़ा है और यह 40 अरब किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है. यह ब्लैक होल M-87 आकाशगंगा में स्थित है और इसे मोंस्टर यानी दैत्य का उपनाम दिया गया है. हमारी धरती से यह करीब 50 करोड़ ख़रब किलोमीटर दूर स्थित है. अगर इसकी तुलना हमारे सूर्य से की जाए तो यह सूर्य से 6.5 अरब गुना ज्यादा द्रव्यमान रखता है. अगर वैज्ञानिकों की माने तो यह ब्लैक होल हमारे पूरे सौरमंडल से भी कहीं ज्यादा विशाल है. यानी अगर कहीं यह हमारे सौरमंडल के आसपास होता तो अब तक हमारा पूरा सौरमंडल इसके अन्दर समा चुका होता.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: