30 साल का हो गया वर्ल्ड वाइड वेब, जाने इसकी खास बातें

Spread the love

गूगल ने वर्ल्ड वाइड वेब (डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू) के 30 साल पूरे होने पर डूडल बनाया है। अंग्रेजी वैज्ञानिक टिम बर्नर्स-ली ने 1989 में डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू का आविष्कार किया और 1990 में पहला वेब ब्राउजर लिखा था। आइए जानतें हैं इससे जुड़े और फैक्ट:

इनफॉरमेशन के आदान-प्रदान के लिए सर्वमान्य लैंग्वेज एचटीएमएल(हाइपर टेक्सट मार्क अप लैंग्वेज) आई। इसकी प्रोग्रामिंग और फंक्शन ऐसा बनाया गया, जो वेब ब्राउजर को समझ में आए।

इतिहास : 1991 में टिम बर्नर ली ने कई तकनीके मिलाकर वेब ब्राउजर की नींव रखी। इस वेब ब्राउजर का नाम वर्ल्ड वाइड वेब था।

6 अगस्त 1991, को पहली वेबसाइट http://info.cern.ch ऑनलाइन हुई। टिम बर्नर ली ने 1992 में वेब पर पहली फोटो अपलोड की थी।

प्रत्येक वेबब्राउजर एचटीएमएल लैंग्वेज को समझता है। शुरुआत के दिनों के कई ब्राउजर सिर्फ एचटीएमल को सपोर्ट करते थे, लेकिन वर्तमान में ब्राउजर एचटीएमएल जैसी दूसरी लैंग्वेज जैसे कि एक्सएचटीएमएल को सपोर्ट करने लगे।

पेज को यूआरएल (यूनीफॉर्म रिसोर्स लोकेटर) के रूप में लोकेट किया जाता है, जिसको एड्रेस के तौर पर जाना जाता है। इसकी शुरुआत एचटीटीची से होती है। कई ब्राउजर एचटीटीपी के अलावा दूसरे यूआरएल टाइप और उनके प्रोटोकॉल जैसे गोफर, एफटीपी को भी सपोर्ट करते हैं।

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
READ  बिना उंगली हिलाए हर काम होगा पूरा, जानिये कैसे
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: