बलात्कार से बचाने के लिए यूके में हो रही है लड़कियों की ब्रेस्ट आयरनिंग

Spread the love

लड़कियों को बलात्कार जैसे भयानक दर्द से बचाने के लिए यूके में लोग अब छोटी उम्र में ही अपनी बच्चियों  की ब्रेस्ट आयरनिंग करवाने लगे हैं. यूके की संसद में इस मामले को उठाते हुए इसे जघन्य अपराध घोषित किया गया है. ऐसा करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कारवाई करने की भी चेतावनी दी गयी है. माना जा रहा है कि अब तक करीब 1000 लड़कियां ब्रेस्ट आयरनिंग की शिकार हो चुकी हैं.

क्या है ब्रेस्ट आयरनिंग

माना जाता है कि ब्रेस्ट आयरनिंग की शुरुआत कैमरून में हुई थी. दरअसल यहाँ के पुरुषों का मानना है कि जिन लड़कियों के ब्रेस्ट विकसित होने शुरू हो जाते हैं वो लड़कियां अब सेक्स के लिए तैयार हैं. जिसका नतीजा यह हुआ कि लड़कियों की मांएं अपनी बच्चियों को रेप और कम उम्र में प्रेगनेंसी जैसी चीजों से बचाने के लिए उनके ब्रेस्ट को डेवलप होने से रोकने की कोशिश करती हैं. इसके पीछे उनका अपना तर्क यह है कि अपनी बच्चियों की हिफाजत करना उनका फर्ज है और वे बस यही कर रही हैं. इसके बाद इसके मामले नाइजीरिया, चाड, बेनिन और अब बर्मिंघम और लन्दन जैसे शहरों में भी नजर आ रहे हैं. ब्रेस्ट आयरनिंग में छोटी बच्चियों की छाती को गरम और भारी चीजों से दागा जाता है ताकि सामान्य लड़कियों की तरह उनके उभार विकसित ना हो सकें. इस तरह उन्हें सेक्सुअली अनएट्रेक्टिव बनाने की कोशिश की जाती है ताकि पुरुष उनकी तरफ आकर्षित ना हो सकें. लेकिन इन सारी चीजों में लड़कियों को असहनीय पीड़ा से होकर गुजरना पड़ता है. सरकार के लिए ऐसे लोगों के खिलाफ कारवाई करना इसलिए भी मुश्किल हो जाता है क्योंकि ऐसा करवाने में लड़कियों के ही परिवार के लोग शामिल होते हैं. यानी यह चोरी छुपे होता है और कभी सामने तक नहीं आता है. यूएन रिपोर्ट की माने तो 58 फीसदी मामलों में लड़कियों की ब्रेस्ट आयरनिंग करवाने में उनकी ही मां का हाथ था.

READ  इंटेल जल्द लांच करेगा नया मोबाइल और पीसी प्लेटफार्म 'आईस लेक'

क्या है नुकसान

10 साल की उम्र तक पहुँचते ही लड़कियों की ब्रेस्ट को लोग गर्म और भारी पत्थरों, हथौड़ों आदि से दिन में एक से 2 बार दागना शुरू कर देते हैं. यह सिलसिला कई महीनों तक चलता है. इससे कोशिकाएं नष्ट होने लगती हैं. जिसका नतीजा अविकसित ब्रेस्ट के रूप में सामने आता है कई बार तो इसके बाद लड़कियों के शरीर का विकास ही नहीं होता है. इसका नतीजा, सिस्ट, कैंसर, इन्फेक्शन आदि रूपों में सामने आता है.

[amazon_link asins=’B07GXSJLY2,B0148Q0D5S,B01BSCPR5Q,B013GNLW36′ template=’ProductGrid’ store=’wordtoword-21′ marketplace=’IN’ link_id=’37d268a2-d825-496d-af0e-8bb7bffd7f31′]

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: