सुपरहीरोज को रचने वाले स्टेन ली ने दुनिया को कहा अलविदा

Spread the love

दुनिया को सुपरहीरोज से परिचय करवानेवाले स्टेन ली ने 95 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा भले ही कह दिया हो, मगर वे अपने योगदान के लिए हमेशा याद रखे जायेंगे. दरअसल गत 12 नवंबर को उनका देहांत हो गया. स्टेन ली मार्वल कॉमिक्स के एडिटर-इन-चीफ भी रह चुके हैं. यह वही मार्वल कॉमिक्स है, जिसके सुपरहीरोज स्पाइडर मैन, आयरन मैन और कई अन्य सुपरहीरोज से आज का बच्चा बच्चा परिचित है. बाद में स्टेन ली इसके पब्लिशर और चेयरमैन रह चुके हैं. स्टेन ली ने ही मार्वल कॉमिक्स को छोटे से पब्लिशिंग हाउस से इतने बड़े मल्टीमीडिया कॉरपोरेशन तक पहुंचाया है.

[amazon_link asins=’B0778LWC6Q,B072QXB55M,B07H2LWNCQ’ template=’ProductGrid’ store=’wordtoword-21′ marketplace=’IN’ link_id=’7b451d26-e81e-11e8-99c3-3b618217a28c’]
कैप्टन अमेरिका से की थी शुरुआत

स्टेन ली ने अपने कैरियर की शुरुआत 1939 में न्यू टाइमली कॉमिक्स डिविजन के पल्प मैगजीन से शुरू की थी. स्टेन ली बचपन से ही एक लेखक बनना चाहते थे. युवावस्था में उन्होंने पहली कॉमिक्स बुक लिखी जिसका नाम था ‘कैप्टन अमेरिका फॉइल्स दि ट्रेटर्स रिवेंज’. तो इस तरह शुरुआत हुई सुपरहीरोज की. मजेदार बात यह है कि उस समय कॉमिक बुक्स को सम्मान के नजरिये से नहीं देखा जाता था. इस वजह से उन्होंने इसे अपने वास्तविक नाम से पब्लिश नहीं कराया.
स्टेन ली ने द्वितीय विश्व युद्ध के समय 1942 में अमेरिका के आर्मी में भी सहयोग दिया था. 1945 तक उन्होंने आर्मी में अपनी सेवा दी. उसके बाद उन्होंने फिर से लिखना शुरू किया. उसके बाद शुरुआत हुई मार्वल कॉमिक्स के अस्तित्व में आने की. उसके बाद फेंटेस्टिक फोर, हल्क, थॉर, आयरन मैन, एक्स मैन जैसे सुपर हीरोज अस्तित्व में आये.

READ  विश्व कैंसर दिवस: लड़कियां ये 7 लक्षण दिखते ही फ़ौरन जांच कराएँ
कुछ रोचक तथ्य

-स्टेन ली ने कई टीवी सीरीज को होस्ट किया और फिल्मों में भी अभिनय भी किया. वह अपने अंदर तमाम तरह की क्रिएटिविटी रखते थे. Marvel movies में पहली बार स्टेन ली ने कैमियो भूमिका की थी.
-स्टेन ली ने साल 2013 में पहली भारतीय सुपरहीरो फिल्म बनाई थी, जिसका नाम था चक्र. कार्टून नेटवर्क, ग्राफिक्स इंडिया एवं पाओ इंटरनेशनल की साझेदारी में बनी इस फिल्म ‘चक्र : द इंविंसिबल’ को कार्टून नेटवर्क पर रिलीज किया गया था.
-स्टेन ले ने कई सुपरहीरो को किरदारों के जरिए जन्म दिया है लेकिन गौर किया जाए तो उन्होंने वास्तविक जीवन में भी कई सुपरहीरो को तलाशा है. उनकी टेलिविजन डॉक्यूमेंट्री सीरीज ‘स्टेन ली के सुपरह्यूमन्स’ ने लोगों को असल दुनिया के सुपरहीरोज से परिचय करवाया है. इस डॉक्यूमेंट्री सीरीज में स्टेन ली ने कई ऐसे इंसानों के बारे में दर्शाया जिनके पास कई अनोखी शक्तियां थीं.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
Do NOT follow this link or you will be banned from the site! © Word To Word 2019 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: