जानिये इस साल के नोबेल प्राइज़ विजेताओं और उनके योगदान को

Spread the love

इस साल अब तक कुल 10 लोगों को दुनिया के इस सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार से नवाजे जाने की घोषणा हुई है. इनमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं. चलिए जानते हैं 2018 के नोबेल विजेताओं और उनके योगदान को.

चिकित्सा के क्षेत्र में इस साल नोबेल विजेता हैं अमेरिका के जेम्स पी एलिसन और जापान के तासुकु होंजो. नेगेटिव इम्यून रेग्यूलेशन के इनहिबिशन के जरिए कैंसर थेरेपी की खोज ने उन्हें इस पुरस्कार का हकदार बनाया. एलिसन टेक्सास विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हैं और होंजो जापान के क्योतो विश्वविद्यालय में प्रोफेसर. इस साल रसायन शास्त्र का नोबेल पुरस्कार दो अमेरिकी और एक ब्रिटिश वैज्ञानिक को साझा तौर पर मिलेगा. उन्हें एक खास प्रोटीन विकसित करने के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा. भौतिकी विज्ञान के क्षेत्र में इस साल का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के आर्थर एश्किन, फ्रांस के जेरा मुरू और कनाडा की डोना स्ट्रिकलैंड को साझा तौर पर मिलेगा. उनके आविष्कार से आंखों की सर्जरी में मदद मिली है. 96 साल के एश्किन भौतिकी का नोबेल पाने वाले सबसे उम्रदराज वैज्ञानिक हैं. इस साल रसायन शास्त्र का नोबेल पुरस्कार दो अमेरिकी वैज्ञानिकों फ्रांसिस एच आर्नोल्ड और जॉर्ज स्मिथ के साथ साथ एक ब्रिटिश वैज्ञानिक ग्रेगरी पी विंटर को साझा तौर पर मिलेगा. उन्हें खास तरह के प्रोटीन विकसित करने के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा. इराक की यजीदी मानवाधिकार कार्यकर्ता नादिया मुराद और कांगो के स्त्रीरोग विशेषज्ञ डेनिस मुकवेंगे को 2018 का शांति का नोबेल पुरस्कार मिलेगा. युद्ध और संघर्षों के दौरान हथियार के तौर पर यौन हिंसा के इस्तेमाल को रोकने के अपने प्रयासों के कारण वे इस पुरस्कार के लिए चुने गए हैं. इस साल का अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के विलियम डी नॉर्डहाउस और पॉल ए रोमर को दिया जाएगा. दीर्घकालीन मैक्रोइकोनॉमिक विश्लेषण में जलवायु परिवर्तन (विलियम डी नॉर्डहाउस) और तकनीकी खोजों (पॉल ए रोमर) को शामिल करने में इन अर्थशास्त्रियों के योगदान के लिए यह पुरस्कार दिया जा रहा है. इस साल साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिया गया क्योंकि इसका चुनाव करने वाली समिति एक सेक्स स्कैंडल में फंस गई. 2017 में यह सम्मान जापानी मूल के ब्रिटिश लेखक काजुओ इशिगुरी को मिला था. इससे पहले 2016 में अमेरिका के बॉन डिलन को इससे नवाजा गया था.

READ  बालाकोट एयरस्ट्राइक: अभिनन्दन समेत 5 वायुसेना पायलट होंगे सम्मानित

[amazon_link asins=’B01MDNQDA5,B07F6CPQBH,B077PRT2B5,B079FRSBRS’ template=’ProductGrid’ store=’wordtoword-21′ marketplace=’IN’ link_id=’f93fb2c8-cb9f-11e8-94cd-f72d31df103a’]

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: