स्वेज नहर में 6 दिन से फंसे जहाज को निकालने का वीडियो हुआ जारी

Spread the love

स्वेज नहर में 23 मार्च से फंसा एक विशालकाय मालवाहक जहाज आखिरकार बाहर निकल गया है .

पनामा के ध्वज वाला ‘एवर गिवेन’ धूल भरी आंधी के कारण अपनी राह से भटक गया था और स्वेज नहर में फंस गया था. इसके बाद से फंसे हुए 400 मीटर लंबे विशालकाय मालवाहक जहाज को निकालने के लिए अभियान चलाया जा रहा था.

रविवार रात को तेज ज्वार आने की वजह से इस मालवाहक जहाज को निकालने में मदद मिली.

ऑनलाइन फुटेज में जहाज को फिर से उसके मार्ग पर लाने के प्रयास करते दिखाया गया है.

एससीए के प्रमुख ओसामा राबे ने सोमवार को कहा कि फंसे हुए मालवाहक जहाज को निकालने के लिए दस विशालकाय टग नावें भी लगी हुई थीं जो उसे खींच रही थीं.

ड्रेजर और टग नाव बड़े पैमाने पर 400 मीटर लंबेजहाज को निकालने के लिए काम कर रहे थे.

नहर में जाम लगने की वजह से आपूर्ति सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हो गई थीं, जिसका असर वैश्विक बाजारों में दिखने लगा था.

लगभग 370 जहाज नहर के दोनों ओर से गुजरने के इंतजार में लगे हुए थे, जिनमें 25 तेल के टैंकर भी शामिल थे.

READ  चीन को हराकर भारत ने संयुक्त राष्ट्र मे बनाई जगह

स्वेज नहर, जो भूमध्य सागर को लाल सागर से जोड़ती है, एशिया और यूरोप के बीच सबसे छोटा शिपिंग मार्ग है. एवर गिवेन के फंस जाने के कारण जो रुकावट उत्पन्न हुई, उससे नहर ऑपरेटरों को प्रति दिन 13 से 14 मिलियन डॉलर का नुकसान हो रहा था.

मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल-फतह अल-सिसी ने फंसे हुए जहाज को निकालने के उद्देश्य से कंटेनर पर लदे माल को उतार कर इसका भार कम करने की संभावना तलाशने का आदेश दिया था.

स्वेज नहर मिस्र की आय के मुख्य स्रोतों में से एक है. पिछले साल जलमार्ग से राजस्व 5.6 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया था.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love

Leave a Reply

Do NOT follow this link or you will be banned from the site! © Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: