अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर वाट्सएप ने जारी किया स्पष्टीकरण, जानिए कितनी सेफ़ है आपकी प्राइवेसी

Spread the love

जबसे वाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट की है तबसे यह बहस छिड़ गयी है कि यह प्लेटफॉर्म कितना सुरक्षित है. अब Whatsapp ने ट्वीट करके कहा है कि पिछले कुछ दिन से चल रही अफवाहों पर आपको ध्यान देने की जरूरत नहीं है. वाट्सऐप पर आपके private messages पूरी तरह से सुरक्षित हैं. ये प्लेटफॉर्म end-to-end encryption पर काम करता है.

क्या कहा गया है tweet में

Whatsapp ने कहा है कि वॉट्सऐप आपके प्राइवेट मैसेज नहीं देखता है और न आपकी कॉल को सुनता है. ना ही किसी भी यूजर के मैसेजिंग या कॉलिंग में लॉगइन किया जाता है. वॉट्सऐप आपके शेयर लोकेशन को भी नहीं देखता है और न ही इसे फेसबुक देख सकेगा. वहीं वॉट्सऐप आपके कॉंटेक्ट्स को भी फेसबुक से शेयर नहीं करेगा. वाट्सऐप ग्रुप हमेशा ही प्राइवेट ग्रुप रहेगा. आप डिसअपियर विकल्प का इस्तेमाल करके अपने मैसेज को एक निश्चित समय में हटा सकते हैं. आप अपना डेटा भी डाउनलोड कर सकेंगे.

Whatsapp काफी दिनों से अपनी नई Privacy Policy को लेकर चर्चा में बना हुआ है. हाल ही में वॉट्सऐप एक और विवाद में फस गया है. दरअसल, WhatsApp ग्रुप के मैसेज गूगल पर लीक हो गए हैं.ऐसे में कोई भी गूगल पर WhatsApp group सर्च करके आपके चैट को पढ़ सकता था और आपके ग्रुप को ज्वाइन भी कर सकता था. WhatsApp की इस गलती की वजह से लोगों के वॉट्सऐप ग्रुप के सभी नंबर्स भी पब्लिक हो गए थे.

वॉट्सऐप ने ये साफ किया कि वह अपने यूजर्स और ग्रूप के इनवाइट्स की Google indexing को रोकने के लिए कदम उठा रहा है. कंपनी के बयान के मुताबिक, मार्च 2020 के बाद से वॉट्सऐप ने सभी लिंक पेजों के लिए noindex टैग लागू कर दिया है जिसके बाद से ये पेज गूगल की इंडेक्सिंग से बाहर हैं. कंपनी ने गूगल को इन चैट को इंडेक्स नहीं करने को कहा है.

READ  फूल सी हल्की कार, सिर्फ 2 सेकेण्ड में 100 किलोमीटर की रफ़्तार

2019 में भी गूगल पर लीक हुआ था डाटा

यह पहला मौका नहीं है जब WhatsApp चैट गूगल पर लीक हुआ. इससे पहले 2019 में भी इसी तरह कई ग्रुप और चैट गूगल सर्च में मिल रहे थे, हालांकि वॉट्सऐप ने अब इस बग को फिक्स कर दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक करीब 1,500 वॉट्सऐप ग्रुप के इनवाइट लिंक गूगल रिजल्ट्स में आ रहे थे. इनमें से कई ग्रुप ऐसे थे जो पॉर्न वाले थे और कई किसी खास समुदाय के थे. कुछ ग्रुप्स बांग्ला और मराठी के थे.

कंपनी के मुताबिक, नई पॉलिसी को एक्सेप्ट करने पर, ऐप अपनी पेरेंट कंपनी फेसबुक और फोटो शेयरींग ऐप इंस्टाग्राम के साथ यूजर्स के डेटा शेयर करेगा. कंपनी ने यूजर्स को इस पॉलिसी को 8 फरवरी, 2021 तक एक्सेप्ट करना होगा, ऐसा नहीं करने पर यूजर्स का अकाउंट डिलीट हो जाएगा. वॉट्सऐप के इस बदलाव से सिग्नल और टेलीग्राम जैसे इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप्स की डिमांड तेजी से बढ़ रही है. वॉट्सऐप की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पॉलिसी से कंपनी को पता होगा कि कौन सा कंटेंट ज्यादा फॉरवर्ड किया जा रहा है.फेक न्यूज को ट्रैक करने में आसानी होगी. इसके साथ ही यह कॉमर्स साइट के प्रॉडक्ट को स्टेटस पर शेयर करेंगे, जिससे फेसबुक इंस्टाग्राम भी उससे जुड़े ऐड दिखाएगा. किसी की निजी चैट प्रभावित नहीं होगी. नई पॉलिसी पर एक और बवाल भी मचा हुआ है, क्यूंकि वॉट्सऐप लोगों के बीच काफी पॉपुलर है. स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने वाले हर यूजर के पास यह कॉमन ऐप की तरह है. अब इसके माध्यम से अलग-अलग तरह के डेटा पर नजर रहेगी. इनमें एडवरटाइजिंग डेटा, पर्चेज हिस्ट्री, कोर्स लोकेशन, फोन नंबर, ईमेल एड्रेस, कॉन्टैक्ट्स, प्रॉडक्ट इंटरैक्शन, क्रैश डेटा, गैलरी, परफॉर्मेंस डेटा जैसी जानकारियों शामिल रहेगी.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
Do NOT follow this link or you will be banned from the site! © Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: