इस दिन होने जा रहा है साल का आखिरी खंडग्रास सूर्यग्रहण, जानिए क्या पड़ेगा प्रभाव

Spread the love

साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर 2020, सोमवार को पड़ने जा रहा है. 14 दिसंबर को अमावस्या भी है. इस दिन रात को लगने वाले इस ग्रहण को भारतीय ज्योतिष में खंडग्रास ग्रहण माना गया है.

खंडग्रास सूर्यग्रहण क्या है?
जब पृथ्वी और सूर्य के बीच चंद्रमा आता है तो इस स्थिति को सूर्य ग्रहण कहते हैं. लेकिन चंद्रमा जब आंशिक रूप से सूर्य को ढके तो इस खंड -ग्रास सूर्य ग्रहण कहते हैं. यानी  14 दिसंबर को होने वाला सूर्य ग्रहण आंशिक ग्रहण (खंडग्रास सूर्य ग्रहण) होगा.

सूर्य ग्रहण का समय –
रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय समायानुसार 14 दिसंबर को शाम 07:03 से ग्रहण शुय होगा और रात्रि 12:23 बजे समाप्त होगा. यह ग्रहण करीब 5 घंटे से ज्यादा लंबे वक्त तक रहेगा.

खंडग्रास सूर्य ग्रहण का असर और महत्व-
वैसे तो ग्रहण एक आम खगोलीय घटना है जिसका इंसानी जीवन पर खास महत्व नहीं होता लेकिन ज्योतिषीय गणना में इसे काफी महत्वपूर्ण माना गया है. ग्रहण का असर राशियों और लोगों के भविष्य के समय पर पड़ता है. लेकिन इस बार यह भारत में दिखाई नहीं देने के कारण इसका असर नहीं होगा. सूर्यग्रहण रात्रि में होने के कारण इसका यहां सूतक भी नहीं लगेगा और न ही किसी को विशेष सावधानियां अपनानी पड़ेंगे. अगर यह ग्रहण दिखाई देता तो गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी बड़ती लेकिन इस बार इसका असर नहीं होगा.

यहां दिखेगा ग्रहण –
14 दिसंबर 2020 को पड़ने वाले ग्रहण को दक्षिण अमेरिका, दक्षिण अफ्रीकी देशों व प्रशांत महासागर के कुछ इलाकों में देखा जा सकेगा.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: