रेसिपी: वीकेंड पर बनायें लो फैट खांडवी

Spread the love

खांडवी गुजराती स्नैक्स है. खाने में यह बहुत ही स्वादिष्ट होती है, और बनाना भी बहुत आसान है, इसे बनाने में तेल की मात्रा बहुत ही कम लगती है. प्रस्तुत है एकदम कम तेल के उपयोग से बनी खांडवी.

आवश्यक सामग्री –

बेसन – 100 ग्राम ( एक कप )
दही- एक कप
पानी – 2 कप
हल्दी- 1/4 छोटी चम्मच
अदरक पेस्ट -आधा चम्मच (यदि आप चाहें)
नमक- 3/4 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
तेल- एक टेबिल स्पून
राई – एक छोटी चम्मच
हरी मिर्च – 2 बारीक काटी हुई
हरा धनियाँ- बारीक कटा हुआ (एक टेबल स्पून)
कच्चा नारियल- एक बड़ी चम्मच कद्दूकस किया हुआ

सबसे पहले दही को अच्छी फैंट लीजिये. एक बर्तन मे दही और बेसन को अच्छी तरह मिला लीजिये. इस घोल में पानी, हल्दी, अदरक का पेस्ट और नमक डाल दीजिये, चमचे से अच्छी तरह मिला दीजिये (घोल में गुठलियां नहीं पड़नी चाहिये).

घोल को किसी भारी तले के बर्तन में डाल दीजिये. बर्तन को गैस पर रखिये और चमचे से घोल को हमेशा चलाते हुये खांडवी को पकाइये. आप देखेंगे कि बेसन का घोल गाढ़ा हो रहा है. गैस धीमी कर दीजिये और घोल को लगातार चलाते रहिये. करीब 8-9 मिनिट में यह घोल पर्याप्त गाढ़ा हो जायेगा. इससे ज्यादा उबालेंगे तो घोल और ज्यादा गाड़ा हो जायेगा जिससे खांडवी की परत पतली नहीं बनेगी.

मिश्रण की मात्रा के अनुसार, 2-3 थालियां या ट्रे ले लीजिये, थाली में तेल लगाने की आवश्यकता नहीं है, खान्डवी के घोल को थाली या ट्रे में थोडा थोडा डाल दीजिये. घोल को चमचे की सहायता से एकदम पतला फैला दीजिये.

READ  47 साल पुराने यौन उत्पीडन के केस में फंसे जीतेंद्र

8-10 मिनिट में यह मिश्रण ठंडा हो कर जम जाता है, इस जमी हुई परत को चाकू की सहायता से 2 इंच चौड़ी पट्टियाँ में काट लीजिये और इन पट्टियों का रोल बना लीजिये. इसके लिए पत्तियों को एक किनारे से मोडना शुरू कीजिये ये आसान से रोल हो जायेंगी. सारे रोल को थाली में लगा दीजिये.

अब छोटी कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, गरम तेल में राई डाल दीजिये, राई तड़ तड़ कर भुन जाय तब इसमें करी पत्ता और हरी मिर्च डालिये और हल्का ब्राउन होने तक भून लीजिये. इस मसाले मिले तेल को चम्मच की सहायता से प्रत्येक खांडवी के ऊपर डाल दीजिये.

खान्डवी को प्लेट में लगाइये. नारियल और हरे धनिये को खान्डवी के ऊपर डाल कर सजा दीजिये. खांडवी तैयार है. खांडवी को हरे धनिये की चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: