हैरतंगेज कारनामे कर सकती है यह मकडी

Spread the love

जर्मनी के रोबोट विशेषज्ञों ने एक ऐसी रोबो मकड़ी बनाने का दावा किया है, जो असली मकड़ी से भी तेज कलाबाजियां लगा सकती है। आठ पैरों वाली इस रोबो मकड़ी को मोरक्को में पाई जाने वाली मकड़ी की तर्ज पर डिजाइन किया गया है।

विशेषज्ञों ने इसे बायोनिक व्हीलबोट नाम दिया है। इसे जर्मनी की रोबोटिक्स में महारत रखने वाली कंपनी फेस्टो ने बताया है। अपने आठ पैरों की बदौलत यह मकड़ी चल सकती है, दौड़ सकती है और हैरतअंगेज रफ्तार से पहिये की तरह गोल-गोल नाच भी सकती है। साथ ही यह हवा में कलाबाजियां भी लगा सकती है। फेस्टो के वैज्ञानिकों ने कलाबाजी करने वाले इस रोबोट को मोरक्को में पाई जाने वाली फ्लिक-फ्लैक मकड़ी की तर्ज पर बनाया, जिसे अपनी असामान्य गतिविधियों के लिए जाना जाता है। यह अन्य मकड़ियों की तरह चल और दौड़ सकती है, साथ ही हवा में गोल-गोल घूमने के अलावा छलांग भी लगा सकती है। यह बायोनिक व्हीलबोट अपने छह पैरों को मोड़कर पहिये की शक्ल अख्तियार कर लेती है और घूमने लगती है।

फिर यह अपने दो पैरों को फैलाकर घूमते हुए आगे बढ़ सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि यह रोबो मकड़ी चलने से भी दोगुनी रफ्तार से घूमने में सक्षम है। बायोनिक व्हीलबोट बनाने वाली कंपनी फेस्टो को रोबोटिक जानवर बनाने में महारत हासिल है। इसने मकड़ी के अलावा तितली, जेलीफिश, पेंग्विन, कंगारु और ड्रैगनफ्लाई का भी निर्माण किया है। हाल ही में फेस्टो ने बायोनिक फ्लाइंग फॉक्स पर से परदा उठाया है।

[amazon_link asins=’B00TDYTGVS,B06Y4RX9C8′ template=’ProductGrid’ store=’wordtoword-21′ marketplace=’IN’ link_id=’2dffacda-3595-11e8-987d-7d9d088c46c3′]

READ  लड़की है या चुड़ैल

[amazon_link asins=’B071CKWKJV,B0753YMB54,B078J1XCPW’ template=’ProductGrid’ store=’wordtoword-21′ marketplace=’IN’ link_id=’5789122f-3595-11e8-a57b-5172b60076e7′]

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: