त्वचा के अनुसार करें साबुन का चुनाव

Spread the love

त्वचा की सफाई के साथ ही यह भी जरूरी है कि स्किन टाइप के अनुसार सोप का चुनाव किया जाए. ऐसा करने से त्वचा को नुकसान नहीं पहुंचता और वह चमकदार भी बनी रहती है. ठण्ड के मौसम में तो ये और भी जरूरी हो जाता है. क्योंकि इस मौसम में त्वचा अपनी नमी खोने लगती है. ऐसे में गलत साबुन के इस्तेमाल से ड्राई स्किन और खुजली जैसी समस्याएं भी होने का खतरा रहता है. ऐसे में साबुन का चुनाव करते समय इन पांच बातों का ध्यान रखकर आप अपने स्किन को हेल्दी बनाये रख सकते हैं-

1. तैलीय त्वचा के लिए – बाजार में उपलब्ध एंटीबैक्टीरियल साबुन में ट्राइक्लोसन और ट्राइक्लोकार्बन जैसे एंटीबैक्टीरियल एजेंट होते हैं जो तैलीय त्वचा वालों के लिए अच्छी तरह काम करते हैं. इसके ज्यादा इस्तेमाल से बचें क्योंकि ये त्वचा को रूखा बना सकता है.

2. ऑल स्किन टाइप के लिए – ग्लिसरीन युक्त साबुन मेडिकेटेड सोप होते हैं और ये मिली-जुली यानी कॉम्बिनेशन स्किन टाइप वालों के लिए फायदेमंद होता है. इसके अलावा जिनकी त्वचा रूखी और संवेदनशील होती है उन्हें भी इस सोप का इस्तेमाल करना चाहिए.

3. कॉम्बिनेशन स्किन के लिए – कॉम्बिनेशन स्किन का मतलब है ऑयली और ड्राई की मिलीजुली त्वचा. इस तरह के साबुन आपकी स्किन के लिए अच्छे हैं. इनमें एसेंशि‍यल ऑयल और सुगंधित फूलों का अर्क होता है जो शरीर को तनाव मुक्त करता है.

4. मुंहासों वाली त्वचा के लिए – चेहरे पर एक मुंहासा आ जाए तो हर कोई परेशान हो जाता है और इसे ठीक करने के लिए न जाने कितने ही उपाय कर लेते हैं. मुहांसों से बचने के लिए बनाए गए साबुन का ज्यादा इस्तेमाल करने से बचना ही बेहतर होता है. कई बार यह त्वचा पर लाल निशान छोड़ जात हैं इसलिए इन्हें इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

READ  इस देसी नुस्खे से पुरुष पल भर में पा सकते हैं निखरी त्वचा

5. हर्बल सोप – जड़ी-बूटियों के तेल से बने ये साबुन त्वचा को केमिकल के प्रभाव से बचाते हैं. इनका इस्तेमाल कोई भी कर सकता है क्योंकि इनके साइड इफेक्ट कम होते हैं.

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: