मिलिए इन टॉप टेन यूट्यूब स्टार्स से, लाखों में है कमाई

Spread the love

वैसे तो यूट्यूब ज्यादातर लोगों के लिए मनोरंजन का जरिया है। लेकिन सोशल मीडिया के कुछ ऐसे भी धुरंधर हैं जिन्होंने इसे अपनी कमाई का जरिया बना लिया है और हर महीने इससे लाखों रूपये कमाते हैं। यूट्यूब स्टारडम अब भारत के लिए नया नहीं है। भारत के टॉप यूट्यूब सुपरस्टारों में कॉमेडियन, म्‍यूजिशियन, शेफ, डॉक्टर शामिल हैं और ये सारे लाखों करोड़ो रुपए की कमाई करते हैं। इंटरनेट कनेक्शन और स्मार्टफोन के बढ़ते क्रेज के साथ ही एआईबी और द वायरल फैक्ट्री (TVF) ने तो जैसे यूट्यूब रोल मॉडल्स को बढ़ावा देने का काम किया है। 2012 में भारत में एक्टिव इंटरनेट यूजर्स की संख्या 120 मिलियन थी जबकि 2015 में इसकी संख्या 343 मिलियन हो गई। इस बीच, स्मार्टफोन की संख्या 42 मिलियन से बढ़कर 240 मिलियन हो गई, जबकि सस्ते स्मार्टफोन की कीमतें 4,950 रुपये से घटकर 2,970 रुपये हो गई। इसी दौरान भारत में यूट्यूब ने पहली बार सफलता की राह को महसूस किया। आंकड़ों के अनुसार, भारत में हर महीने 20,000 एक्टिव यूट्यूब चैनल 3.8 लाख वीडियो अपलोड करते हैं। इन चैनलों को 9.48 अरब लोग देखते हैं 1.1 करोड़ नए ग्राहक आकर्षित होते हैं। एक महीने में औसत भारतीय दर्शक 79 वीडियो देखने के लिए 475 मिनट बिताते हैं। एक तरह से यूट्यूब आज आम लोगों को भी स्टार बनने का एक मंच दे रहा है। आइये जानते हैं ऐसे ही कुछ यूट्यूब स्टार्स के बारे में-

तन्मय भट्ट

ये भारत के मशहूर यूट्यूब स्टार हैं। एआईबी के सह-संस्थापक तन्मय भट्ट दिखने में स्टार की तरह नहीं हैं। मोटे, भद्दी सी मुस्कान, बेढंगा लुक और शरारती आँखों वाले इस व्यक्ति को देखने से लगता है जैसे स्कूल में लड़कों ने इसकी काफी खिंचाई की हो। तन्मय ने अपने हास्य कौशल को पहचाना और 2009 में अपने कैरियर की शुरूआत की। वे वीर दास द्वारा स्थापित वीरंदास कॉमेडी का हिस्सा बने और ये कॉमेडी स्टोर में एक हास्यकार भी रहे। रागिनी एमएमएस 2 जैसी फिल्म में कैमियो करने के अलावा इन्होंने कई स्टैंड-अप कॉमेडी शो में भी काम किया है। फोर्ब्स पत्रिका ने इनको सबसे अमीर सेलिब्रिटी की सूची में शामिल किया, इस सूची में शाहरुख खान और अमिताभ बच्चन जैसे बड़े सितारों का नाम भी शामिल था। इनके यूट्यूब चैनल सब्‍सक्राइबर्स 1,876,404 व्यूज 193,119,384 और मंथली इनकम लगभग 120,000- 22,0000 डॉलर है।

साहिल खट्टर


साहिल खट्टर अपने प्रोग्राम लव गुरु से चंडीगढ के टॉप रेडियो जॉकी बन गए। 17 साल की उम्र में मिली इस सफलता ने इनकी ज़िंदगी को शानदार बना दिया। 2011 में खट्टर मुंबई आ गए। परंतु इनके इस फैसले से इनके माता-पिता नाखुश थे। माँ की इच्छा थी कि बेटा पास रहे और पिता चाहते थे कि वे कारोबार संभालें। मुंबई में भी इनकी ज़िंदगीआसान नहीं रही। काम ना मिलने पर, इन्होंने डायलॉग लिखना और अभिनय की ओर रुख किया। चॉल में रहते हुए माता-पिता से झूठ कहा कि वो बांद्रा के एक दो बेडरूम के फ्लैट में रहते हैं। पैसे बचाने के लिए ऑटो या बस की बजाय पैदल जाते थे। इनकी कड़ी मेहनत 2014 में रंग लाई। डिजिटल मीडिया कंपनी, कल्चर मशीन ने इन्हें अपने नए प्रोग्राम के लिए साइन किया। इस प्रोग्राम में, मेज़बान को सड़क पर चल रहे लोगों से सवाल पूछने थे। क्योंकि खट्टर थिएटर की दुनिया से थे, उन्होंने खुद को इस प्रोग्राम के लिए फिट पाया। इनके यूट्यूब चैनल के सब्‍सक्राइबर्स 1,119,508 व्यूज 184,968,923 और मंथली इनकम लगभग 9000-40,000 डॉलर है.

READ  शूटिंग के लिए आमिर खान पहुंचे कारगिल, देखिए वीडियो और तस्वीरों में

भुवन बाम


भुवन बाम ने रोमांच के लिए यूट्यूब का सफर आरंभ किया। पिछले साल, मई में भुवन टीवी पर कश्मीर बाढ़ से जुड़े समाचार देख रहे थे। इस दौरान एक मेज़बान ने बाढ़ में खो चुके एक मासूम की माँ से अटपटा सा सवाल पूछा। इस सवाल ने भुवन को कुछ करने पर मजबूर किया। उस मेज़बान की खिल्ली उड़ाते हुए भुवन ने फेसबुक पर एक वी़डियो अपलोड किया। यह वीडियो रातों-रात वायरल हो गया। इसकी क्षमता को पहचानते हुए, इन्होंने जून 2015 को यूट्यूब पर अपने कॅरियर की शुरुआत की। आज भुवन, तेज़ी से तरक्की पा रहे यूट्यूब सितारों में से एक है। उनकी ज्‍यादातर दर्शक 18 साल की ऊपर की आयु के हैं। इनके शुरुआती प्रशंसक पाकिस्तान के थे पर अब इस संख्या में भारतीय भी जुड चुके हैं। ये अपने वीडियो में व्यंग के साथ गाली गलोच का भी इस्तेमाल करते हैं। इनके यूट्यूब चैनल के सब्‍सक्राइबर्स 1721080 व्यूज 46,596,685 और इनकी मंथली इनकम लगभग 16000- 60,000 डॉलर है।

संजय थुम्‍मा


2008 में संजय ने कुछ नया करने की सोची। संजय एक प्रशिक्षित शेफ हैं और उस समय तक ये अमेरिका में अपना रेस्तरां चला रहे थे। समय की कमी और कुछ नया करने के इरादे से इन्होंने अपना रेस्तरां बेच दिया। लेकिन इनके ज़ायके के दिवानों ने इनका पीछा नहीं छोड़ा। वे इन से फोन करके इनकी रेसपी मांगते। इस समस्या के समाधान के रूप में, संजय ने यूट्यूब पर अपने दोस्तों के लिए कुछ रेसपी अपलोड की। परंतु कुछ अन्य लोग भी इनकी रेसपी के दिवाने बन गए। जिससे इनके वीडियो वायरल होने लगे। वीडियो की सफलता को देखते हुए यूट्यूब ने इन्हें और वीडियो अपलोड करने की तथा कमाई को बढ़ाने की सलाह दी। 2008 में संजय अपने परिवार के साथ भारत आ गए। लेकिन यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करने का सिलसिला जारी रहा। इस काम को संजय और इनकी पत्नी मिलकर करते हैं। दावा किया जाता है कि वे यूट्यूब पर सबसे पसंदीदा शेफ हैं। अब ये कुछ ब्रांड का विज्ञापन करने के लिए भी तैयार हैं। इनके यूट्यूब चैनल के सब्‍सक्राइबर्स 1,119,508 व्यूज 398,285,143 और मंथली इनकम लगभग 6000-35000 डॉलर है।

निशा मधुलिका


2007 ऐसा समय था जब निशा मधुलिका अकेलेपन से पीडि़त थीं। बच्चे बड़े होकर अपनी ज़िंदगी में बिजी हो गए थे। इन्होंने अपने पति के सूचना प्रौद्योगिकी व्यवसाय में मदद करना भी छोड़ दिया था। इन्होंने इंटरनेट पर एक रेसपी पढ़ी और 2007 में अपना ब्लॉग शुरू किया। ऑनलाइन आने में इनके पति ने इनकी मदद की। 2011 में इन्होंने 100 रेसपी लिख ली थी। इनका ब्लॉग लोकप्रिय होने लगा और इनके प्रशंसक इन्हें वीडियो अपलोड करने के लिए अनुरोध करने लगे। परंतु इनकी मौजूदा रसोई इस काम के लिए उपयुक्त नहीं थी। तो इन्होंने एक कमरे को रसोई के रूप में परिवर्तित किया और वीडियो की शूटिंग, संपादन और अपलोडिंग का सारा ज़िम्मा पति ने उठाया। प्रशंसकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए, अब मधुलिका एक हफ्ते में तीन रेसपी अपलोड करती हैं। काम को सही ढंग से पूरा करने के लिए वो दो दिन शूट करती हैं, और चार दिन अनुसंधान, अपने अनुयायियों के साथ जुड़ने व ईमेल का जवाब देने में बिताती हैं। इनके यूट्यूब चैनल के सब्‍सक्राइबर्स 1,100,191 व्यूज 340,414,727 और मंथली इनकम लगभग 5000-30,000 डॉलर है।

READ  पबजी गेम में ऐसे पाइए लेटेस्ट कॉस्ट्यूम्स और आउटफिट्स फ्री में

सनम पुरी


सनम पुरी को छः साल की उम्र में ही संगीत से प्यार हो गया। लेकिन 2010 में इन्होंने अपनी इस रुचि को गंभीरता से लिया। 2010 में सनम अपने भाई समर और दो दोस्त वेंकट सुब्रमण्यम और केशव धनराज के साथ टाइम्स संगीत सुपरस्टार के पॉप बैंड के लिए ऑडिशन देने आए। यहाँ मिली जीत से एसक्यूएस सुपरस्टार बैंड का जन्म हुआ। जल्द ही वे मुंबई चले गए और अपने बैंड का नाम एसक्यूएस प्रोजेक्ट में परिवर्तित कर दिया। 2013 में, बैंड ने बेन थॉमस को साइन किया, इन्होंने सोनी नेगू और विशाल-शेखर जैसे पॉप स्टार को मैनेजर के रूप में प्रबंधित किया है। थॉमस की मेहरबानी से, उसी साल इन्हें ‘गोरी तेरे प्यार में’ फिल्म का धत तेरी की गाने का ब्रेक मिला। यूट्यूब पर आना एक संयोग था। इन्होंने दुनिया भर में लाइव कॉन्सर्ट्स के लिए कुछ एजेंटों के लिए कुछ वीडियो रिकॉर्ड किए थे। इन्होंने उन वीडियो को यूट्यूब पर अपलोड किया। कुछ महीनों बाद, बैंड को गूगल से $800 का चेक मिला। 2014 तक, इन्होंने बैंड को अधिक आकर्षक सनम के लिए पुनः ब्रांडेड किया था। यूट्यूब वीडियो के अलावा, वे हर महीने लगभग 15 लाइव शो करते हैं। इनकी महत्वाकांक्षा भारत में इंडियन संगीत संस्कृति को पुनर्जीवित करना है, जोकि किसी ज़माने में सिल्क रूट बैंड किया करता था। इनके यूट्यूब चैनल के सब्‍सक्राइबर्स 2,084,326 व्यूज 391,621,179 और मंथली इनकम लगभग $6.9K-$110.1K है।

श्रुति आनंद


2010 में जब 30 साल की श्रुति आनंद, वॉशिंगटन डीसी, अमेरिका में थी तब वो यूट्यूब पर “कैसे करें” से संबंधित कई सारे वीडियो देखा करती थी। ये वीडियो पाक कला, मेक-अप और बालों की स्टाइलिंग से जुडे थे। श्रुति वीडियो के देखकर मेक-अप करना सीखने लगी, लेकिन जल्द ही उन्हें समझ आ गया कि यूट्यूब पर अधिकांश उत्पाद और टिप्स भारतीय त्वचा के लिए नहीं हैं। 2011 में, अपनी जॉब के बीच में समय निकाल कर इन्होंने वीडियो फिल्माया और उसे यूट्यूब पर अपलोड किया। जल्द ही यह उनकी एक आदत बन गई। 2013 में, आनंद और उनके पति भारत लौट आए। यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करने का काम जारी रहा, इसके साथ उनकी लोकप्रियता भी बढ़ती गई। श्रुति के लिए एक यूट्यूब चैनल बनाने के लिए उनके पति ने नौकरी छोड़ दी है। इस चैनल को संभालने के लिए उनकी पांच सदस्यीयों की एक टीम भी है। भविष्य में, वे अपने खुद के उत्पाद लॉन्च करना चाहते हैं। इनके यूट्यूब चैनल के सब्‍सक्राइबर्स: 724,754 व्यूज 136,263,735 और इनकी मंथली इनकम लगभग 1.7k-26.9k डॉलर है।

READ  बारिश में भी बनी रहेगी ख़ूबसूरती

कानन गिल


कॉलेज टाइम में, कानन गिल एक हास्य रॉक बैंड के लिए गीत लिखा करते थे। लेकिन कॅरियर के तौर पर इन्होंने सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की राह चुनी। लेकिन कॉमेडी की ओर इनकी दिलचस्पी इन्हें इस राह पर आगे खींच लाई। कानन ने पंचलाइन बैंगलोर और कॉमेडी स्टोर, मुंबई जैसी प्रतियोगिताओं में भाग लेकर उन्हें जीता। 2013 में, इन्होंने सड़क पर लोगों से बात करते हुए कॉमेडी सीन को शॉट किया। उन्होंने संगीत वीडियो बनाने में भी अपना हाथ आज़माया। 2014 में, इन्हें कॉमेडी सेंट्रल पर द लिविंग रूम में काम करने का अवसर प्राप्त हुआ। इनके बिस्वाल कल्याण रथ – प्रेथेंटियस मूवी की समीक्षा, बॉलीवुड पर व्यंग्य – को भी काफी सराहना मिली। उसी साल, ओएमएल जो सिर्फ एआईबी का प्रबंधन किया करते थे, उन्होंने इनको साथ काम करने का प्रस्ताव दिया। इसके बाद गिल ने नौकरी छोड़कर इस नए काम की ओर ध्यान दिया। आज, गिल कई तरह के काम करते हैं, जिसमें ऑनलाइन और ऑफ़लाइन दोनों शामिल हैं।

रणजीत कुमार


वर्ष 2007 में, हैदराबाद के रणजीत कुमार एक प्रोग्रामर के तौर पर काम कर रहे थे। इनकी कमाई काफी अच्छी और ज़िंदगी काफी आरामदायक थी। परंतु वे अपने काम से ऊब चुके थे, जिस वजह से इन्होंने गैजेट्स की समीक्षा करना शुरू किया। जो काम लिख कर किया जाता था वो वीडियो में तबदील हो गया। वे इन वीडियो के यूट्यूब पर अपलोड करते थे। ये सप्ताह में छः वीडियो अपलोड करते थे। शुरू में इनकी ग्राहकों की संख्या केवल 1600 रही। 2014 के आसपास चीजें बदलने लगी। अब, हर महीने 800 से 900 ग्राहक इनके चैनल पर जुडते हैं। सब कुछ खुद संभालते हुए वे अपने चैनल के लिए दिन में 10 से 14 घंटों के लिए काम करते हैं तथा अपने अनुयायियों से भी जुड़े रहते हैं। यूट्यूब पर अच्छा खासी रकम कमाने के लिए इन्हें दो से तीन साल लग गए। हर शनिवार को शाम 7 बजे कुमार एक लाइव सवाल-जवाब सत्र करते हैं, इसमें इनके अनुयायी इनसे प्रश्न पूछते हैं। इनके अधिकांश अनुयायी कॉलेज के छात्र और युवा, तकनीकी पेशेवर हैं जो गैजेट्स खरीदना चाहते हैं। कुमार की बढ़ती लोकप्रियता पर तकनीकी उत्पाद कंपनियों ने भी ध्यान दिया है।

विक्रम यादव


2007 में डॉक्टरी की पढाई कर रहे विक्रम यादव अक्सर इंटरनेट और ऑनलाइन मंचों का उपयोग करके अपने सवालों का जवाब पाने तथा वैश्विक विशेषज्ञों के मुद्दों को समझने की कोशिश करते थे। 2009 में, ये अपने शोधों पर यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करने लगे। इसके अलावा वे चिकित्सीय समस्याओं व इलाज पर भी वीडियो अपलोड करने लगे। उनका शौक एक जुनून बन गया था और इस जुनून ने मोरादाबाद के इस डॉक्टर की आय भी बढाई। वे सप्ताह में दो वीडियो अपलोड करते हैं। दुनिया भर के लोग उनके अनुयायी हैं। इसमें खासकर अमेरिका, ब्रिटेन और जापान के लोग शामिल हैं।

ब्रह्म मुहूर्त में जागते थे श्रीराम, जानें फायदे ( Brahma muhurta ke Fayde) , देखें यह वीडियो


हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Spread the love
© Word To Word 2021 | Powered by Janta Web Solutions ®
%d bloggers like this: